कलेक्टर ने किया उसूर ब्लाक के अंदरूनी क्षेत्रों का दौरा

बीजापुर । कलेक्टर श्री राजेन्द्र कुमार कटारा ने कृषि के क्षेत्र में किसानों की आमदनी बढ़ाने एवं शासन की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने उसूर ब्लाक के अंदरुनी क्षेत्रों में कृषको से मिलकर आवश्यक चर्चा की। इस दौरान सर्वप्रथम मुरकीनार पहँुचे जहां तीन किसानों द्वारा अपने निजी कृषि भूमि में धान के बदले अन्य फसल लेने का निर्णय लिया गया है। उक्त कृषको द्वारा धान के फलदार वृक्षारोपण एवं साग-सब्जी का उत्पादन किया जाएगा जिसे मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजनान्तर्गत प्रति 3 वर्ष तक प्रति एकड़ 10-10 हजार रूपये कृषि आदान सहायता के रूप में प्राप्त होगा । कलेक्टर श्री कटारा कृषकों से आवश्यक चर्चा करते हुए कहा कृषि के क्षेत्र छत्तीसगढ़ शासन द्वारा विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है। जिसमें मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना, धान के बदले अन्य फसल, समर्थन मूल्य पर खरीदने वाले फसलो की जानकारी देते हुए आवश्यकय योजनाओ की जानकारी दी एवं इस दौरान किसानों के खेत में वृक्षारोपण का शुभारंभ करते हुए कलेक्टर श्री कटारा ने आम के पौधे का रोपण किया। किसानों को कोदो-कुटकी, रागी से आय में वृद्धि करने एवं सरकार द्वारा मिलने वाली लाभ के बारे में बताया। इस अवसर पर ग्रामीणों ने मछली बीज प्रदाय करने, तालाब में सुलुस गेट निर्माण एवं कैनाल निर्माण की मांग की, कलेक्टर ने बताया मछली बीज तैयार हो रहा है। आगामी 10 तारीख तक वितरण शुरु की जाएगी। 1 करोड़ मछली बीज तैयार है। वहीं 50 लाख और स्पान निकलने वाला है। सुलुस गेट एवं कैनाल का निर्माण करने के लिए स्टीमेट बनाने के निर्देश दिया गया।भ्रमण के दौरान ग्राम पंचायत हीरापुर पहुँचे वहाँ के किसानों से मिलने उनके खेत गए, खेतों का जायजा लिया। किसानों ने बताया कुछ किसानों द्वारा मिर्च की खेती की जाती है। जिससे धान से कहीं ज्यादा आमदनी हो जाती है किन्तु बिजली लाईन विस्तार खेतो तक नही होने से डीजल पंप के माध्यम से सिंचाई करना पड़ता है जो कि महंगा होता है। कलेक्टर ने अधिक से अधिक किसानों को मिर्च की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया। जिसमें किसानों ने सहमति व्यक्त की मौके पर उपस्थित कृषि विभाग अधिकारियों को कम से कम 100 एकड़ रकबा में मिर्च की खेती का कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। किसानों को सामूहिक रुप से खेती करने के लिए प्रोत्साहित करने को कहा एवं कृषि विभाग के अधिकारी और किसान मिलकर चर्चा करे ताकि मिर्ची के खेती को बढ़ावा दिया जा सके। कलेक्टर ने सामूहिक तार फेन्सिग, ड्रीप, सिंचाई की व्यवस्था, उन्नत बीज, मल्चींग सहित विद्युत लाईन का विस्तार तथा विद्युत मोटर भी प्रदाय करने की बात कही ताकि किसानों की आमदनी के स्त्रोत बढ़ सके। इस अवसर पर उपसंचालक कृषि श्री पीएस कुसरे, सहायक संचालक श्री सत्यजीत कंवर, सीईओ जनपद पंचायत श्री एसबी गौतम सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *