मक्के की बोरियों के नीचे 2.80 क्विंंटल गांजा छिपाकर राजस्थान ले जाते तीन गिरफ्तार

महासमुंद। कोमाखान पुलिस ने शनिवार शाम 5 बजे वाहन चेकिंग के दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग- 353 फारेस्ट नाका टेमरी के पास माल वाहक क्रमांक आरजे 32 जीए 6921 से 2 क्विंटल 80 किलो गांजा कीमत 56 लाख बरामद किया। वहीं तस्करी के आरोप में तीन युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके खिलाफ पुलिस ने नारकोटिक्स एक्ट के तहत कार्रवाई की। बता दें कि मक्के के बोरियों को नीचे पुलिस को चकमा देने तस्करों ने गांजा को छुपाकर रखा था। कोमाखान पुलिस को राजस्थान की पासिंग गाड़ी ओडिशा की ओर से आते देख ही संदेह हो गया था। चेकिंग के बाद संदेह की पुष्टि भी हो गई। कोमाखान थाना प्रभारी रामअवतार पटेल ने बताया कि गांजा तस्करी के आरोप में ग्राम सुमेला थाना रास जिला पाली राजस्थान निवासी सवरा पिता मेमा (35), ग्राम फाई सागर रोड़ खरेकड़ी थाना गंज जिला अजमेर राजस्थान निवासी खेतान चीता पिता दामा चीता (26) और ग्राम गुदिलीया थाना गंज जिला अजमेर राजस्थान निवासी पिन्टू रेगर पिता राम सरज (25) को गिरफ्तार किया है। इनके पास से तस्करी में प्रयुक्त माल वाहक क्रमांक गाड़ी कीमती 5 लाख, 2 नग की-पैड मोबाइल कीमती 1 हजार, चांदी की माला 5 सौ रुपए व नकदी रकम 6 हजार 600 रुपए जब्त की है। गांजा तस्करी पुलिस को चकमा देने के लिए कई तरह के पैतरे अपनाते है, लेकिन तस्कर पुलिस के गिरफ्त में आ ही जाते हैं। थाना प्रभारी ने बताया तस्करों ने ओडिशा से ही मक्के को गांजा के ऊपर पता न चले इसलिए रखा था। टेमरी नाका के पास वाहन चेकिंग के दौरान जब गाड़ी आई तो चेक करने के लिए चालक व सवार लोगों से पूछताछ की। इस दौरान गोल-मोल जवाब दिया तो संदेह हुआ। इसके बाद गाड़ी की तलाशी ली गई। ऊपर में 50 जूट की बोरियों में मक्का था, लेकिन नीचे चेक किया तो 13 बोरियों में गांजा मिला। पकड़े गए तीनों तस्कर राजस्थान के हैं। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वह गांजा लेकर राजस्थान जा रहे थे। कुछ ही दिन पहले गाड़ी लेकर ओडिशा गए थे। वहां से गांजा लेकर मक्के की बोरियों के नीचे छिपाकर आ रहे थे। वे राजस्थान पहुंच पाते इससे पहले ही पकड़े गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *