कबाड़ खरीदी की आड़ में परिवहन विभाग का कर रहे नुकसान

पत्थलगांव । शहर में एक दर्जन से भी अधिक कबाड़ी स्कै्रप की आड में चोरी का सामान खपाने का काम कर रहे है। पड़ोसी जिला रायगढ में स्कै्रप खपने के कारण कबाडी चोरी का सामान खरीदने से भी परहेज नही कर रहे। जानकारो की माने तो शहर से प्रतिदिन चार से पांच वाहन मे कबाड का सामान पडोसी जिले मे ले जाकर खपाया जा रहा है,इसका जीता जागता उदाहरण उस वक्त देखने को मिला जब एक मोटर पार्टस की दुकान के सामने रखे नये सामान को कबाड बिनने वाले कबाडी उठाकर ले गये और वह समान शहर के ही एक सफेदपोश कबाडी की दुकान से बरामद होने की खबर लगी है। यहा कबाड का काम कर रहे व्यापारियों द्वारा पुराने सामान की आड मे घर या शासकीय कार्यालय के गोदामो मे रखे सरकारी सामान की खरीदी की जा रही है,बताया जाता है कि यहा काम करने वाले कबाडी सामान लाने के लिए गांव देहात के एक दर्जन से भी अधिक युवको को प्रशिक्षित कर रखे है,जो दिनभर कबाड बिनने की आड मे कीमती सामानो की उठाईगिरी कर उसे उनके यहा लाकर सस्ते मे बेच देेते है,जिससे यहा के कबाडियों को मोटा मुनाफा मिलता है। सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार कबाड का बडा काम करने वाले कुछ गोदामो मे रेलवे साईड के स्क्रैप की भी खरीदी की जा रही है,उसके अलावा पुल पुलियों के गाटर एवं बिजली के पोल भी उनके यहा कटिंग हो रहे है। पिछले कुछ महिनो की बात करें तो जिले के तत्कालिक पुलिस अधीक्षक ने पूरे जिले मे कबाड के कारोबार पर पूरी तरह रोक लगा दिया था,जिसके कारण शहर एवं आस-पास क्षेत्रो मे छोटे सामानो की उठाईगिरी एवं घरो से होने वाले सामानो की चोरी पर भी अंकुश लगा था। बताया जाता है कि इन दिनो कृषको के खेत मे लगे बोर या कुंअे से पंप एवं उसके केबल की चोरी की घटना हर दिन आम हो गयी है।।
परिवहन विभाग के राजस्व का नुकसान-:स्कै्रप के साथ कीमती सामानो की चोरी या उठाईगिरी की वारदातो से आम नागरिक ही परेशान नही है। कबाडियों द्वारा इन दिनो परिवहन विभाग के राजस्व का भी नुकसान किया जा रहा है,मिली जानकारी के अनुसार यहा के कुछ कबाडियों के यहा पुरानी वाहनो को स्कै्रप मे लेकर उसे काटने का गोरखधंधा जारी है। कबाडियों द्वारा पुरानी गाडी की खरीदी मे परिवहन विभाग को अपने राजस्व का नुकसान उठाना पड रहा है। सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार यहा के कबाडियों के यहा बिकने वाली अधिकांश पुरानी गाडियों मे परिवहन विभाग का रोड टैक्स सालो साल से पटाया नही गया,बाद मे विक्रेता रोड टैक्स बचाने एवं शासन की आंखो मे धूल झोंकने के लिए पुराने वाहनो को कबाडियों को बेच रहे है,इस तरह परिवहन विभाग की भी आंखो मे कबाडी धूल झोंकने का प्रयास कर रहे है।।बगैर नीलामी के उठा रहे सरकारी सामान-कबाड के काम पर अंकुश ना लगने के कारण कबाडियों की हिम्मत दिन प्रतिदिन बढते जा रही है,उनके द्वारा सरकारी विभागो मे अपनी सांठ-गांठ कर बगैर नीलामी के ही लाखो रूपये का स्कै्रप उठा लिया जा रहा है,जिसमे विभागीय लोगो के अलावा कबाडियों की भूमिका काफी संदिग्ध है। सूत्रो के अनुसार कबाड बिनने के लिए इन दिनो दूसरे प्रांतो से युवको को बुलाकर उनसे सामान की उठाईगिरी करायी जाती है।।
कबाड़ में वाहन खरीदी कर उसे कटिंग नही किया जा सकता,कोई भी पुरानी वाहन खरीदने एवं उसकी कटिंग करने से पूर्व जिला परिवहन अधिकारी की अनुमति लेना अनिवार्य है,ऐसा करते यदि कोई पाया जाता है तो उससे कटिंग वाहन मे बकाया टैक्स की वसूली की जायेगी।
व्ही.के.निकुंज-जिला परिवहन अधिकारी-जशपुर
कबाडिय़ों को सख्त निर्देशित किया गया है कि चोरी से संबंधित किसी भी प्रकार का सामान की खरीदी बिक्री ना करें,यदि ऐसा करते पाये जाते है तो कठोर कार्यवाही की जायेगी।
मल्लिका बनर्जी-थाना
प्रभारी-पत्थलगांव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *